My buried musical notes

I scribble my work notesKeeping my guitar asideMy song hangs in the airAs in my daily rut, I slide The pen writes deepImpressions go beyondIt takes its tollSmudges my happy song I need to pull backSit back and relax a littleThere is the sand that flowsThrough the hour glass so brittle I pick my guitarIContinue reading “My buried musical notes”

In between the moments

Who decides,the next momentDoes it wait for meOr do I seek? When do I exitthe pastand enter the presentI wonder? If I do movefrom the pastto the present,what do I traverse? From the pastto the destinationThat is nowWhere do I exist? Does that journeyin betweengo without noticingAs if in a sleep? That state betweenthe thenContinue reading “In between the moments”

Amma ka phone aaya

अम्मा का फ़ोन आयाहाल चाल पूछामौसम का हाल भी समझाफिर कुछ और कहना चाहातो हमने कहाआज थोड़ा व्यस्त हूँकल काल करूँगा अम्मा चुप हो गयीकहते कहते रुक गयीऐसा हर बार सुना थापर इस व्यस्त होने का तर्कउनको कुछ विपरीत सा लगाकई सवाल मन में उठेकल और आज में फ़रकबहुत गहरा नज़र आया बेटा, ये कैसाContinue reading “Amma ka phone aaya”

वक्त है, गुज़र जाएगा

लो आगया छुट्टी का दिनलगता दूर था महीने पहलेजैसे कभी नहीं मिलेंगे इस दिन से, कई दिनों तककई अरमान बुने थेये करेंगेउनसे मिलेंगेदेर तक बातें करेंगेपर ये समय है कि मानता नहींरेंगता, कभी भागताबस चलता रहता हैकुछ पल लगाथोडा और जी लेंकुछ पल को, थोड़ा रोक लेंऐसी उम्मीद, उम्मीद ही रह गईकुछ अरमान पूरे हुएकुछContinue reading “वक्त है, गुज़र जाएगा”